Singhania IBDP

Hindi Diwas Celebrations

Sep 14, 2022

विभिन्न प्रदेशों की वेशभूषा में सुसज्जित, हाथों में रंग-बिरंगे बैनर व विद्यालय के प्रांगण को अपने स्वर से गुंजार करते हुए कक्षा पहली से दसवीं तक के छात्रों ने 14 सितंबर के दिन हिंदी के प्रचार- प्रसार के लिए बहुत जोश से पूरे विद्यालय में एक रैली निकाली। उन्होंने विद्यालय की प्रधानाचार्या श्रीमती रेवती श्रीनिवासन व अन्य शिक्षकों, कर्मचारियों को बैज पहनाकर अपना सहभागी बनाया। इसके उपरांत छात्रों ने विद्यालय के मल्हार हॉल में सामूहिक रूप से हिंदी दिवस के अवसर पर एक विशेष कार्यक्रम प्रस्तुत किया।

कार्यक्रम का आरंभ प्रथम व द्वितीय कक्षा के विद्यार्थियों के काल्पनिक संसार से हुआ जहां उन्होंने बड़े मजे से हाथी को गिनती सिखाई। इसके बाद तीसरी व चौथी कक्षा के विद्यार्थियों ने हिंदी भाषा के महत्व को दर्शाते हुए एक लघु नाटिका प्रस्तुत की,जिसमें बताया गया कि मधुर, मीठी और सब के साथ घुल- मिल जाने के कारण हिंदी भाषा भारत मां को अत्यधिक प्रिय है। भाव और भाषा पर बच्चों की गहरी पकड़ की सभी ने सराहना की। पहली और तीसरी कक्षा के बच्चों ने कविताओं का भी सस्वर मधुर पाठ किया।

जूनियर सेक्शन के बच्चों ने रामधारी सिंह दिनकर की प्रसिद्ध कृति रश्मिरथी के तृतीय सर्ग 'कृष्ण की चेतावनी' को अत्यधिक सुंदर ढंग से प्रस्तुत किया। काव्य-पाठ व अभिनय करने वाले बच्चों की भाव और भाषा दोनों के बीच के तालमेल की जितनी भी प्रशंसा की जाए वह कम है।

कार्यक्रम का समापन कक्षा दसवीं के बच्चों द्वारा प्रस्तुत साहित्यिक अंत्याक्षरी से हुआ। अंत्याक्षरी के लिए बच्चों को रजनीगंधा, अमलतास, सदाबहार और हरसिंगार इन चार नाम से अलग-अलग वर्गों में विभाजित किया गया जिसमें हर वर्ग में तीन-तीन बच्चों ने प्रतिभागी के रूप में भाग लिया। पहले चक्र में बच्चों ने वर्ण की आवृत्ति के आधार पर दूसरे चक्र में भाव के आधार पर और तीसरे चक्र में कवियों के आधार पर दोहे, श्लोक व कविताएं बोलीं। चारों टीमों के मध्य स्पर्धा देखते ही बनती थी। सभी एक दूसरे से आगे- निकलने की होड़ में दिखाई दे रहे थे। सभी प्रतिभागियों ने पूरे जोश व उत्साह से इसमें भाग लिया। अंत्याक्षरी का संचालन अत्यधिक कुशलता के साथ किया गया जिसने शुरू से आखिरी तक दर्शकों को बांधकर रखा। जूनियर सेक्शन के विद्यार्थी ने सभी लोगों का आभार व्यक्त किया।

-->